गरीब का रिश्ता – हिन्दी कहानी

एक बार गांव में एक व्यक्ति अपनी लड़की के लिये रिश्ता देखने गया वह ज्यादा लखपति तो नही था लेकिन घर से सक्षम परिवार से था इसलिये थोड़ा घमंडी स्वभाव का था।

जिस गांव में वह अपनी लड़की का रिश्ता देखने गया वहाँ उसके कुछ रिश्तेदार भी उसी गाँव रहते थे तो उसने अपने रिश्तेदारों को बताया कि वह इस गांव में अपनी लड़की के लिये रिश्ता देखने आया है कोई अच्छा घर हो तो बताइये|

तब सभी ने उसको सलाह दी और एक घर बताया और कहा कि यहाँ पर एक लड़का है जो 12वी की पढ़ाई कर रहा है लड़का सीधा – सीधा है बुरी संगत में भी नही है और घरवाले भी अच्छे है उनका व्यवहार इस समाज मे सबसे अच्छा है।

ऐसा सुना तो उसने कहा कि ठीक है में अपनी बेटी के लिये वहां रिश्ता लेकर जाता हूँ लड़के के घरवालों की आर्थिक स्थिति ठीक नही थी।

जब वह लड़के वालो के यहाँ गया तो उसने देखा की यहाँ तो गरीब लोग है ना इनके पास कोई पक्का मकान है न ही लड़का ज्यादा पढ़ा लिखा है|

लड़के वाले के घर की स्थिति ठीक नहीं थी लेकिन फिर भी उन्होंने उसकी अच्छी खातिरदारी की जब बात रिश्ते की आती है तो वह आदमी कहता है की लड़का तो ठीक है लेकिन में सोच कर बताता हूँ|

उसने अपने रिश्तेदारों से कहा की मैं वहाँ रिश्ता नहीं कर सकता मेरी बेटी ऐसे गरीब घर में कैसे रहेगी उसे तो चूल्हा फूंकना पड़ेगा लड़का भी सिर्फ 12वी पास है माना की वह गलत संगत में नहीं है, लेकिन आर्थिक स्थिति भी ठीक नहीं है|

मै ऐसे गरीब घर में अपनी लड़की की शादी नही कर सकता उसने अपने रिश्तेदारों से कहा की आप मेरी तरफ से रिश्ता कैंसिल (मना) कर देना रिश्तेदारों ने लड़के वालो को मना कर दिया उसकी लड़की भी घमंडी थी उसने भी कह दिया की गरीब का रिश्ता स्वीकार नहीं करुँगी मैं तो किसी अमीर लड़के से ही शादी करुँगी|

कुछ दिनों बाद उस आदमी के पास उसी गाँव से एक लड़के का रिश्ता आता है उसकी लड़की के लिये वह परिवार सक्षम था पैसा,दौलत, जमीन वगैरह सब कुछ था उनके पास लड़की के बाप ने और लड़की ने यह देखा तो तुरंत ही रिश्ते के लिये हाँ कर दी|

लेकिन यहाँ लड़का अमीर बाप की बिगड़ी औलाद था फिर भी उन्होंने इससे रिश्ता जोड़ लिया|

उस लड़के से लड़की की शादी कर दी गयी इधर गरीब घर के लड़के को भी एक लड़की मिल गई जो की गरीब परिवार से ही थी|

कुछ दिन ऐसे ही बीते उसके बाद अमीर लड़के के पिता जी की म्रत्यु हो जाती है तो उसे रोक-टोक करने वाला घर में कोई नहीं रह जाता उसकी माँ उसे कुछ गलत काम करने से रोकती तो वह उसे कुछ नहीं समझता और ज़ोर डांट देता|

धीरे-धीरे उसने सट्टे और शराब और मज़े, गाड़ी,पार्टी इन सब चीजों में अपनी सभी सम्पति को नष्ट कर दिया और पूरी तरह से क़र्ज़ में डूब गया| यहाँ तक की उसे नशे की इतनी ज्यादा लत लग गयी की उसने अपने घर तक को भी नीलामी पर रख दिया आज उसकी स्थिति उस गरीब लड़के से भी कई गुना ख़राब है|

उधर जो लड़का गरीब था उसने मेहनत करके अपनी स्थिति को अच्छा बना लिया और आज वह पुरे परिवार का पालन पोषण अकेला ही करता है ईमानदारी से अपना काम करता है अब वह काफ़ी सक्षम हो गया है उसका छोटा भाई इंजीनियरिंग कर रहा है जिसका खर्चा भी वही उठाता है|

जिस लड़की ने उसकी गरीबी हालत को देखकर शादी करने से इंकार कर दिया था आज जव वह कहीं उसे देखती है तो मन में बहुत पछताती है और उसका बाप भी पछताता है क्योंकि उस लड़की की जिंदगी ही बर्बाद हो गयी शराबी लड़के से शादी करके|

कभी भी रिश्ता करें तो पैसा देखकर दौलत देखकर नहीं करना चाहिये जबकि यह देखना चाहिये की लड़का कैसा है उसका रहन सहन कैसा है और लड़की में भी यही गुण देखने चहिये ऐसा|

रिश्ते में सुन्दरता और दौलत बाद में देखना पहले व्यव्हार देखना!

यह भी देखे:

विक्रम बेताल की प्रथम कहानी- उसका पति कौन?

Leave a Comment