सर्वनाम के भेद एवं परिभाषा | sarvanam in hindi | Pronoun in hindi

सर्वनाम (Pronoun In Hindi)

इस आर्टिकल में सर्वनाम की सम्पूर्ण जानकारी आपको मिलने वाली है की सर्वनाम क्या है (Sarvnam In Hindi) सर्वनाम के भेद एवं परिभाषा, संज्ञा और सर्वनाम में अंतर क्या है?

इससे पहले वाली पोस्ट में हमने संज्ञा के बारे में जाना की किसी व्यक्ति, वस्तु या विषय एवं स्थान आदि के नाम को संज्ञा कहते है|

पूरी जानकारी पढ़िये:

संज्ञा किसे कहते है संज्ञा के कितने भेद होते है?

सर्वनाम की परिभाषा (Sarvanam Ki Paribhasha)

किसी व्यक्ति वस्तु या स्थान आदि के नाम को संज्ञा कहते है लेकिन “वे शब्द जो संज्ञा के स्थान पर प्रयोग किये जाते है उन्हें सर्वनाम कहते है”

सर्वनाम में हम व्यक्ति, वस्तु का नाम न लेकर उसकी जगह दुसरे शब्दों के द्वारा संबोधित करते है|

कामताप्रसाद गुरु के अनुसार: सर्वनाम वह शब्द है जो संज्ञा के स्थान पर प्रयुक्त होता है या संज्ञा के बदले बोला जाता है जो लिंग वचन कारक के अनुसार अपना रूप बदलता है|

सर्वनाम का मतलब होता है सब का नाम यह दो शब्दों से मिलकर बना है सर्व+नाम = सर्वनाम इसी प्रकार से सर्वनाम को परिभाषित किया जाता है|

सर्वनाम के उदाहरण:

ये भी देखे:

Best Positive Thinking Quotes In Hindi

सर्वनाम के अंतर्गत ये शब्द आते है- मैं, तुम, तुम्हारा, आप, आपका, इस, यह, उस, उसे, उसको, मुझे, हमारा, हम, आदि शब्द आते है|

श्याम वकील है| श्याम वकालत करता है| श्याम के पिताजी जज है|

उपरोक्त वाक्यों में श्याम का नाम तीनो वाक्यों में लिया गया है लेकिन यह बार-बार बोलने में अच्छा नहीं लगता इसलिये इसके स्थान पर इसका सर्वनाम का उपयोग किया जाता है जैसे:

श्याम वकील है| वह वकालत करता है| उसके पिताजी जज है|

इसी प्रकार अन्य वाक्यों में जहाँ एक ही व्यक्ति का नाम बार-बार आता है तो उसकी स्थान पर उसके सर्वनाम का उपयोग किया जाता है| एक और अन्य उदाहरण से समझते है|

मीरा एक लड़की है मीरा बहुत सुन्दर है | मीरा कृष्ण की भक्ति करती है|

यहाँ मीरा का नाम बार-बार आ रहा है इसलिये उनके स्थान पर उसके सर्वनाम से संबोधित करते है|

जैसे:

मीरा एक लड़की है वह बहुत सुन्दर है वह कृष्ण की भक्ति करती है|

सर्वनाम के भेद (Sarvanam Ke Bhed)

जिस प्रकार संज्ञा के तीन भेद होते है उसी पराकर सर्वनाम के भेद होते है|

सर्वनाम के 6 (छः) भेद होते है|

  • (1)पुरुषवाचक सर्वनाम (Personal pronoun) (मैं, तू, वह, हम, मैंने)
    • उत्तम पुरुष (मैं, मुझे, मेरा, मुझको, हम, हमें, हमारा, हमको)
    • मध्यम पुरुष (तू, तुझे, तेरा, तुम, तुम्हे, तुम्हारा, आप, आपको, आपका, आप लोग, आप लोगों को आदि)
    • अन्य पुरुष (वह, उसने, उसको, उसका, उसे, उसमें, वे, इन्होंने, उनको, उनका, उन्हें, उनमें )
  • (2)निश्चयवाचक सर्वनाम (Demonstrative pronoun) (यह, वह)
  • (3)अनिश्चयवाचक सर्वनाम (Indefinite pronoun) (कोई, कुछ)
  • (4)संबंधवाचक सर्वनाम (Relative Pronoun) (जो, सो)
  • (5)प्रश्नवाचक सर्वनाम (Interrogative Pronoun) (क्या, कौन)
  • (6)निजवाचक सर्वनाम (Reflexive Pronoun) (आप)
Sarvanam In Hindi

पुरुषवाचक सर्वनाम (Personal Pronoun)

वे सर्वनाम शब्द जो किसी व्यक्ति का बोध करवाते है उनको पुरुषवाचक सर्वनाम कहते है दुसरे शब्द में- बोलने वाले, सुनने वाले और जिसके विषय में बात होती है, उनके लिये जो सर्वनाम शब्द उपयोग किये जाते है वे पुरुषवाचक सर्वनाम कहलाते है|

ये शब्द स्त्री या पुरुष के नामों के बदले में उपयोग किये जाते है इसलिये भी इसे पुरुषवाचक सर्वनाम कहते है|

जैसे: मैं पढाता हूँ| तुम पढ़ते हो| वह लिखता है|

उपरोक्त वाक्यों में- मैं, तुम और वह पुरुष वाचक सर्वनाम है|

पुरुषवाचक सर्वनाम भी तीन प्रकार के होते है|

1.) उत्तम पुरुष सर्वनाम

इस सर्वनाम में बोलने वाले के बारे में बात होती है जिसमे बोलने वाला अपने लिये उपयोग करता है|

जैसे:- मैं, हम, हमारा, मुझे, हमारी, मेरा, मैंने आदि|

उत्तम पुरुष सर्वनाम के उदाहरण:

मैं कल दिल्ली जाउँगा|

हम पढ़ाते है|

हमारा भारत महान है|

मुझे भूख लगी है|

हमारी भाषा हिन्दी है|

मेरा विषय हिन्दी है|

मैंने कविता लिखी है|

2.) मध्यम पुरुषवाचक(Second Person)

वे सर्वनाम जो सुनने वाले के लिये प्रयोग किये जाते है उन्हें मध्य पुरुष सर्वनाम कहते है|

जैसे:- तू, तुम, तुम्हारा, तुम्हे आदि

मध्यम पुरुषवाचक के उदाहरण:

तू छोटा बच्चा है|

तुम अच्छे विद्यार्थी हो|

तुम्हारा दिमाग पढने में तेज है|

तुम्हे हिन्दी भाषा सीखनी चाहिये|

3.) अन्य पुरुषवाचक (Third Person)

वह सर्वनाम जो किसी व्यक्ति के बारे में संबोधन के लिये उपयोग किया जाता है अन्य पुरुष सर्वनाम कहलाता है|

जैसे:- यह, वह, उसे, उन्होंने, उनसे, इनसे, वे, इनका आदि|

अन्य पुरुषवाचक के उदाहरण:

यह बच्चा सुन्दर है|

वह लड़की सुन्दर है|

उसे अच्छी शिक्षा नहीं मिली|

उन्होंने कार्य किया है|

उनसे जा कर बात करो|

इनसे मिलिये|

वे सही लोग नहीं है|

निश्चयवाचक सर्वनाम (Demonstrative Pronoun)

जिस सर्वनाम से किसी व्यक्ति, वस्तु या स्थान की निश्चित होने का बोध होता है उसे निश्चयवाचक सर्वनाम कहते है

दुसरे शब्दों में: जो सर्वनाम किसी वस्तु विशेष और व्यक्ति आदि का निश्चय होना बताये उसे निश्चयवाचक सर्वनाम कहा जाता है|

जैसे: यह, वह, ये, वो, वे आदि ये सभी शब्द निश्चयवाचक सर्वनाम से जाने जाते है| वाक्यों के उदाहरण से समझते है|

निश्चयवाचक सर्वनाम के उदाहरण

रमेश की छोटी बहन है यह बहुत अच्छी पढ़ती है|

बलराम स्कूल गया था वह घर आ चूका है|

इस प्रकार के जितने भी वाक्य होते है उन सभी वाक्यों में निश्चय वाचक सर्वनाम होता है|

अनिश्चयवाचक सर्वनाम (Indefinite Pronoun)

जो शब्द किस व्यक्ति, वस्तु स्थान आदि का निश्चयपूर्वक बोध न करवाता है उसे अनिश्चयवाचक सर्वनाम कहते है|

दुसरे शब्दों में: वह शब्द जिसका प्रयोग किसी व्यक्ति, वस्तु या स्थान आदि के लिये किया जाता है लेकिन उस शब्द से यह स्पष्ट न हो की किस व्यक्ति, वस्तु या स्थान के बारे में बताया जा रहा है उसे अनिश्चयवाचक सर्वनाम कहा जाता है|

जैसे: कोई, कुछ, किसी आदि|

अनिश्चयवाचक सर्वनाम के उदाहरण

कोई है! जिसने यह दुनिया बनायीं है|

कुछ गड़बड़ लग रही है|

यहाँ “कोई” और “कुछ” से शब्द से आशय क्रमशः व्यक्ति एवं विषय से है लेकिन यह स्पष्ट नहीं हो पा रहा है की कोई मतलब क्या है और कुछ मतलब क्या है|

संबंधवाचक सर्वनाम (Relative Pronoun)

जो सर्वनाम शब्द दुसरे सर्वनाम से शब्द से संबंध दर्शाते है उन्हें संबंधवाचक सर्वनाम कहा जाता है| ये शब्द दो वाक्यों को जोड़ने का कार्य भी करते है|

“जिन सर्वनाम शब्दों का प्रयोग किसी वस्तु या व्यक्ति का सम्बन्ध बताने के लिए किया जाए वे शब्द सम्बन्धवाचक सर्वनाम कहलाते हैं।”

दुसरे शब्दों में: जो सर्वनाम दुसरे सर्वनाम से सम्बंधित हो उसे संबंधवाचक सर्वनाम कहते है|

जैसे: जो, जिसने, जैसे-वैसे, जिसकी-उसकी, जितना-उतनाआदि

संबंधवाचक सर्वनाम के उदाहरण:

जौ जैसा करेगा वो वैसा भरेगा|

जैसी करनी वैसी भरनी|

जिसको जैसा करना है वो वैसा करो|

जिसकी लाठी उसकी भैंस|

प्रश्नवाचक सर्वनाम (Interrogative Pronoun)

जिन शब्दों के प्रयोग करने से किसी प्रश्न के होने का बोध होता है उन्हें प्रश्नवाचक सर्वनाम शब्द कहते है|

जो सर्वनाम शब्द किसी प्रश्न को पूछने के लिये वाक्यों में प्रयोग किये जाते है उन्हें प्रश्नवाचक सर्वनाम कहा जाता है|

जैसे: कौन, क्या, कहाँ, किसने आदि|

प्रश्नवाचक सर्वनाम के उदाहरण:

रावण कौन था?

भारत की राजधानी क्या है?

तुम कहाँ रहते हो?

जरासंध को किसने मारा था?

निजवाचक सर्वनाम (Reflexive Pronoun)

जिस शब्द के वाक्य में प्रयोग से अपनेपन का भाव उत्त्पन्न होता है उसे निजवाचक सर्वनाम कहा जाता है|

दुसरे शब्दों में: “निज” का अर्थ अपना/स्वयं का और “वाचक” का अर्थ बोध करवाने वाला इस प्रकार “निजवाचक” का अर्थ हुआ की अपनेपन का बोध करवाने वाले शब्दों को निजवाचक सर्वनाम कहते है|

जैसे: निजी, अपने आप, स्वयं आदि|

निजवाचक सर्वनाम के उदाहरण:

यह मेरा निजी संपत्ति है|

कुछ कार्य अपने आप ही हो जाते है|

स्वयं के द्वारा किया गया कार्य अच्छा फल देता है|

संयुक्त सर्वनाम

रूस के एक हिंदी वैयाकरण डॉ. दिमशित्स ने एक और प्रकार के सर्वनाम का उल्लेख बताया है जिसे उन्होंने “संयुक्त सर्वनाम” कहा है|

लेकिन हिन्दी भाषा में इस सर्वनाम की कोई व्याख्या नहीं की गई है| संयुक्त सर्वनाम दो सर्वनाम या संज्ञा और सर्वनाम से मिलकर बनते है| संयुक्त सर्वनाम स्वतन्त्र रूप से या संज्ञा-शब्दों के साथ भी प्रयुक्त होता है।

इसमें दो या दो से अधिक शब्द होते है|

संयुक्त सर्वनाम के उदाहरण:

कोई-कोई, कुछ-कुछ, कुछ-न-कुछ, कोई-न-कोई, कोई भी, कोई भी, सब कुछ, और कोई, जो कोई, सब कोई, जो कुछ, कुछ भी, आदि|

सर्वनाम से सम्बंधित प्रश्न और उनके उत्तर:

1. प्रश्न) संज्ञा और सर्वनाम में क्या अंतर/संबंध है?

उत्तर: संज्ञा किसी व्यक्ति, वस्तु, स्थान आदि का नाम होता है एवं सर्वनाम उस संज्ञा के स्थान पर उपयोग होने वाले शब्द होते है|

2. प्रश्न) सर्वनाम के कितने भेद होते है?

उत्तर: सर्वनाम के छः भेद होते है|

3. प्रश्न) पुरुषवाचक सर्वनाम के कितने भेद है?

उत्तर: पुरुषवाचक सर्वनाम के तीन भेद उत्तमपुरुष, मध्यमपुरुष, अन्यपुरुष है|

4. प्रश्न) सर्वनाम का क्या अर्थ है?

उत्तर: सर्वनाम दो शब्द सर्व+नाम से मिलकर बना है इसलिये सर्वनाम का अर्थ है सभी का नाम|

5. प्रश्न) सर्वनाम को अंग्रेजी में क्या कहते है?

उत्तर: सर्वनाम को अंग्रेजी में प्रोनाउन (Pronoun) कहते है|

आपने क्या सिखा:

इस आर्टिकल में आपने सिखा की सर्वनाम किसे कहते है (Sarvanam In Hindi) सर्वनाम के भेद एवं परिभाषा के बारे में विस्तार से जाना की सर्वनाम संज्ञा के स्थान पर उपयोग होने वाले शब्दों को कहते है|

एक बार फिर से आपको बता दे की संज्ञा किसी वस्तु, व्यक्ति, स्थान के नाम को कहते है और सर्वनाम इन नामों की जगह पर प्रयोग किये जाते है|

यह आर्टिकल कैसा लगा हमे जरुँर बताये और हिन्दी व्याकरण पढने के लिये हमारी वेबसाइट रोज आते रहे|

हम यहाँ अच्छे-अच्छे आर्टिकल पब्लिश करते है|

Leave a Comment